दिनेश लाल यादव (निरहुआ) जीवनी, उम्र, पत्नी, परिवार आदि

दिनेश लाल यादव एक भोजपुरी गायक, अभिनेता, निर्माता और टीवी प्रस्तोता हैं। उन्हें ‘निरहुआ’ नाम से अधिक जाना जाता है।

वह भोजपुरी सिनेमा के प्रमुख अभिनेताओं में से एक हैं और अपनी फिल्मों, निरहुआ हिंदुस्तानी (2014), निरहुआ रिक्शावाला (2014), संघर्ष (2018), बॉर्डर (2018) आदि के लिए जाने जाते हैं।

जीवनी

दिनेश लाल यादव का जन्म 2 फरवरी 1979 को हुआ था (उम्र 43 साल; 2022 को) उत्तर प्रदेश के गाजीपुर शहर में। उनकी राशि कुंभ है।

उन्होंने 1997 में पश्चिम बंगाल काउंसिल हायर सेकेंडरी एजुकेशन से इंटरमीडिएट (12वीं) की परीक्षा पास की।

शारीरिक वनावट

हाइट: 5’ 6"

वजन: 65 किग्रा

शारीरिक माप: छाती 38", कमर 30", बाइसेप्स 13"

आँखों का रंग: काला

बालों का रंग: काला

परिवार, जाति और पत्नी

निरहुआ गाजीपुर के प्रसिद्ध बिरहा परिवार से सम्बन्ध रखते हैं।

वह यादव समुदाय से ताल्लुक रखते हैं, जिन्हें उत्तर प्रदेश में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) माना जाता है।

उनके पिता का नाम कुमार यादव और माता का नाम चंद्रज्योति यादव है।

दिनेश लाल यादव और उनका परिवार:

निरहुआ अपनी मां के साथ:

उनका एक भाई है जिसका नाम प्रवेश लाल यादव है।

दिनेश लाल यादव अपनी मां और भाई के साथ:

उनके दो चचेरे भाई हैं जिनका नाम विजय लाल यादव और प्यारे लाल यादव है। विजय लाल यादव को ‘बिरहा सम्राट’ के नाम से भी जाना जाता है, और वह एक प्रसिद्ध बिरहा गायक हैं। प्यारे लाल यादव (कविजी), एक प्रसिद्ध गीतकार और लेखक हैं।

विजय लाल यादव:

प्यारे लाल यादव (कविजी):

निरहुआ ने 2000 में मनसा देवी से शादी की।

मनसा देवी:

उनके दो बेटे अमित और आदित्य और एक बेटी है जिसका नाम अदिति है।

दिनेश लाल यादव अपनी बेटी अदिति के साथ:

फिल्म करियर

उन्होंने फिल्म “चलत मुसाफिर मोह लियो रे (2006)” में कल्पना पटवारी और सुनील छैला बिहारी के साथ सहायक अभिनेता के रूप में अपने करियर की शुरुआत की।

वह पाखी हेगड़े के साथ “निरहुआ रिक्शावाला (2008)” में मुख्य अभिनेता के रूप में दिखाई दिए; फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी।

उनका पहला गायन की “निरहुआ फिर से आयल बा दरबार ए माई” गीत के साथ हुई।

उन्होंने 2001 में “बुधवा में दम बा” और “मलाई खाए बुडवा” गीतों से पहचान हासिल की।

दिनेश लाल यादव ने निरहुआ हिंदुस्तानी (2014), पटना से पाकिस्तान (2015), निरहुआ हिंदुस्तानी 2 (2017), म बम बोल रहा है काशी (2016), और बॉर्डर (2018) जैसी सफल फिल्में दी हैं।

निरहुआ ने 2019 में भोजपुरी वेब सीरीज “हीरो वर्दीवाला” से अपना डिजिटल डेब्यू किया।

राजनीतिक करियर

दिनेश लाल यादव भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य हैं।

वह मार्च 2019 में लखनऊ में योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए।

उन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव के खिलाफ मैदान में उतारा गया था। हालाँकि उन्हें इस चुनाव में असफलता हासिल हुई।

2022 में आजमगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से उपचुनाव में उन्होंने समाजवादी पार्टी के धर्मेंद्र यादव के खिलाफ 11,000 मतों के अंतर से जीत हासिल की।

पुरस्कार

  • 2015 में निरहुआ हिंदुस्तानी के लिए बीआईएफए में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार
  • भोजपुरी सिनेमा में उनके योगदान के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से भारती सम्मान पुरस्कार।

संपत्ति / वेतन

2022 के अनुसार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ की कुल संपत्ति 6 करोड़ रु. है। कथित तौर पर, वह प्रति फिल्म लगभग 40 लाख रुपये लेते हैं।

चल संपत्ति (1.34 करोड़ रु.)

  • नगदी: 50 हजार रु
  • बैंक जमा: 3.38 लाख रु
  • बांड, डिबेंचर और शेयर: 1.50 लाख रु
  • LIC और अन्य बीमा: 7 लाख रु
  • गाड़ियां: 53 लाख
  • गहने: 16 लाख रु
  • जनरेटर: 1 लाख रु

अचल संपत्ति

  • टप्पा सौरी, गाजीपुर में 1 करोड़ कीमत की 3.50 एकड़ कृषि भूमि
  • गाजीपुर के ग्राम तड़वा सोरी में एक 5 बिस्वा गैर-कृषि भूमि, जिसकी कीमत 15 लाख रु है
  • गोरखपुर में 83.36 वर्ग फुट का एक व्यावसायिक भवन जिसकी कीमत 45 लाख रु है
  • न्यू लिंक रोड अंधेरी वेस्ट मुंबई में एक आवासीय फ्लैट 3 करोड़ रु कीमत का

नोट: सभी जानकारी 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान दायर उनके हलफनामे पर आधारित है।

कार और बाइक संग्रह

  • रेंज रोवर यूपी 53 बीके 0001 (मॉडल 2016)
  • फॉर्च्यूनर एमएच 02 बीयू 0001 (मॉडल 2010)
  • पल्सर यूपी 61 एल 6122 (मॉडल 2010)

मनपसंद चीजें

  • भोजन: लिट्टी चोखा
  • अभिनेता: अमिताभ बच्चन
  • खेल: क्रिकेट

तथ्य

  • दिनेश लाल यादव भोजपुरी सिनेमा में सबसे अधिक भुगतान पाने वाले अभिनेता हैं और पूरे मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश में लोकप्रिय हैं।
  • उनके पास एक साल में 5 भोजपुरी फिल्में देने का रिकॉर्ड है, जिनमें पटना से पाकिस्तान, निरहुआ रिक्शावाला 2, जिगरवाला, राजा बाबू और गुलामी शामिल हैं।
  • उन्होंने गंगा देवी (2012) फिल्म में अमिताभ बच्चन के साथ अभिनय किया था।
  • वह अपने शो के लिए ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और फिजी जा चुके हैं, जो सभी एक बड़ी सफलता साबित हुए।
  • मशहूर होने से पहले निरहुआ अपने भाई के साथ स्टेज पर परफॉर्म करते थे। उन्हें रात भर गाना पड़ता था और कम भुगतान किया जाता था या कभी-कभी बिल्कुल भी भुगतान नहीं किया जाता था।
  • उन्हें अपना नाम “निरहुआ” 2003 में आई अपनी एल्बम “निरहुआ सातल रहे” के माध्यम से मिला।
  • जिस कंपनी ने उनकी एल्बम “निरहुआ नाम हा” का प्रकाशन किया था, उसने “निरहुआ सातल रहे” को अस्वीकार कर दिया था। इसके बाद वह टी-सीरीज़ में गए, जहाँ एल्बम रिलीज़ हुई और ब्लॉकबस्टर बन गई।
  • बिहार के मोहनिया शहर में एक शो के दौरान निरहुआ ने पूरे शो में “निरहुआ सातल रहे” गाया।
  • निरहुआ को “जुबली स्टार” के नाम से भी जाना जाता है।

विवाद

  • दिनेश लाल यादव की मल्टी-स्टारर भोजपुरी फिल्म “बॉर्डर (2018)” की रिलीज़ के दौरान एक विवाद पैदा हो गया, जब शशिकांत सिंह नाम के एक रिपोर्टर ने निरहुआ और फिल्म की आलोचना की। रिपोर्टर ने यह भी आरोप लगाया कि खेसारी लाल यादव की फिल्म “दुल्हन गंगा पार के (2018)” के टिकट उपलब्ध नहीं होने के कारण स्थानीय लोगों ने बॉर्डर फिल्म देखी। निरहुआ जो रिपोर्टर की पोस्ट से नाराज थे, उन्होंने पोस्ट के स्क्रीनशॉट साझा किए और अपने दर्शकों से समर्थन मांगा। न केवल भोजपुरी हस्तियों बल्कि रोहित शेट्टी, रणवीर सिंह, रितेश देशमुख और बोमन ईरानी जैसी बॉलीवुड हस्तियों ने भी उनकी फिल्म को अपना समर्थन दिया।
  • साल 2017 में जब दिनेश लाल यादव भोजपुरी फिल्म फेस्टिवल में शिरकत करने लंदन जा रहे थे, तो उन्होंने कथित तौर पर शराब के नशे में एक एयर होस्टेस के साथ दुर्व्यवहार किया। उनके साथ यात्रा करने वाले अन्य सितारों ने नाराज महिला के साथ मामले को सुलझाने में मदद की। निरहुआ द्वारा माफी मांगने के बाद महिला ने मामले को पुलिस के पास नहीं ले जाने का फैसला किया।
  • बिग बॉस सीजन 6 के सेट पर, दिनेश लाल यादव और इमाम ए सिद्दीकी, जो एक फैशन स्टाइलिस्ट हैं, के बीच काफी लड़ाई हुई थी। एक ग्रामीण घर में दिनेश लाल यादव, इमाम ए सिद्दीकी और आशका गोराडिया ठहरे हुए थे। आशका ने इमाम पर ऐसा कमेंट किया, जिससे तीनों के बीच मारपीट हो गई। इमाम ने काफी हंगामा किया, जिसके बाद उन्हें घर से निकाल दिया गया। दिनेश लाल यादव ने बाद में कहा कि उन्होंने इमाम जैसे व्यक्ति को पहले कभी नहीं देखा और अगर वे बिग बॉस में थोड़ा और रुकते तो दिनेश इमाम को मार देते।