चेहरे की सुन्दरता बढ़ाने के उपाय

हर किसी की चाहत होती है कि उसका चेहरा सुन्दर और गोरा हो। लेकिन इसके लिए कई लोग नुकसानदायक केमिकल युक्त उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं।

हमारा चेहरा बहुत संवेदनशील होता है, इसलिए यह उत्पाद काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए अपने चेहरे पर प्राकृतिक चीजों का ही इस्तेमाल करें।

चेहरे पर प्राकृतिक ग्लो लाने के लिए हमारे घर में ही कई चीजें मौजूद हैं।

आइये जानते हैं इन चीजों के बारे में –

चेहरे की सुन्दरता बढ़ाने के प्राकृतिक घरेलू उपाय

  • आयुर्वेद में हल्दी को चेहरे की सुन्दरता के लिए सबसे उपयोगी बताया गया है। इसीलिए हमारे यहाँ शादी के वक्त दूल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाई जाती है। रोज सुबह हल्दी में कच्चा दूध मिलाकर चेहरे पर लगायें। इससे आपका चेहरा सुन्दर और चमकदार लगने लगेगा।
  • पके पपीते के गूदे को मिसकर उसका उबटन बना लें और उसे अपने चेहरे पर लगायें। अब 20 मिनट तक इसे सूखने दें और फिर कपड़े से साफ़ करके तिल का तेल लगा लें। इसका रोजाना इस्तेमाल करने से चेहरे की झुर्रियां ख़त्म हो जाती हैं।
  • निम्बू और शहद को बराबर मात्रा में मिलाकर चेहरे पर लगायें। 10 मिनट लगाये रखने के बाद ठंडे पानी से धो लें। निम्बू प्राकृतिक फेस वाश का काम करता है, इसके इस्तेमाल से चेहरे में मौजूद अशुद्धियाँ बाहर निकल जाती हैं और चेहरा दमकने लगता है। ऑयली स्किन वाले चेहरे के लिए निम्बू काफी फायदेमंद होता है।
  • अगर चेहरे के त्वचा रुखी-सूखी है तो खीरा के मिश्रण में शहद मिलकर लगायें।
  • बेसन में शहद, तिल का तेल और निम्बू का रस मिलाकर उबटन बना लें। अब इसे रोज सुबह नहाने से पहले चेहरे पर लगायें। इससे चेहरे का सौंदर्य निखरेगा।
  • दिन में 2 बार नारियल पानी को चेहरे पर लगायें। इससे चेहरे के काले दाग और मुंहासे ख़त्म हो जायेंगे।
  • रोज दही की लस्सी में शहद मिलाकर सेवन करें। इसके नियमित सेवन से चेकरे की त्वचा सुन्दर और कोमल बनती है।
  • केला में बहुत सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो सेहत और त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। केले का पेस्ट तैयार करके इसे चेहरे पर लगायें। इससे चेहरे को प्राकृतिक मॉइस्चर भी मिलता है।
  • निम्बू के रस में बादाम का तेल घोलकर चेहरे पर लगायें। इससे चेहरे का रंग साफ़ होगा।
  • चेहरे पर नारियल के तेल से मालिश करने से चेहरे की स्किन के खून का प्रभाव ठीक होता है, जिससे चेहरे पर प्राकृतिक ग्लो आता है। नारियल के तेल को गर्म करके इस्तेमाल करें।
  • तुलसी के पत्तों का रस निकालकर निम्बू के रस में मिला लें और इससे चेहरे की मालिश करें। तुलसी के पत्तों में प्राकृतिक एंटीबायोटिक्स होते हैं, जो चेहरे से किसी भी प्रकार के बैक्टीरियल या वायरल इन्फेक्शन को दूर कर देते हैं। इसलिए इससे चेहरे के दाग-धब्बे के निशान और कील मुंहासे ख़त्म हो जाते हैं।
  • टमाटर जितना सेहत के लिए फायदेमंद होता है उतना ही चेहरे के लिए भी होता है। Oily face वाले लोग रोजाना अपने चेहरे पर टमाटर के रस को लगायें। यह चेहरे में मौजूद oil को सोख लेता है जिससे चेहरा चमकने लगता है।
  • गुलाब जल में निम्बू का रस मिलाकर लगाने से भी चेहरा दाग धब्बों से रहित और कोमल होता है।
  • रात को सोने से पहले देशी घी से चेहरे की मालिश करें। इससे चेहरे पर मौजूद चोट के निशान और दाग-धब्बे धीरे-धीरे ख़त्म हो जायेंगे।
  • चने के आटे में अरंडी का तेल मिलाकर उबटन बना लें और इसे चेहरे पर फेस मास्क की तरह लगायें। इससे चेहरे की झाइयाँ ख़त्म होंगी और चेहरे पर प्राकृतिक निखर आयेगा।
  • आयुर्वेद में गुलाब जल को चेहरे के लिए काफी फायदेमंद बताया गया है। रोजाना सुबह शाम मुह धोने के बाद रुई को गुलाबजल से भिगोकर चेहरे पर लगायें। ऐसा नियमित करने से चेहरे पर मौजूद sun tanning ख़त्म होने लगती है और चेहरा गोरा और सुन्दर लगने लगता है।
  • कच्चे दूध में शहद की कुछ बुँदे डालकर लगाने से भी चेहरे का कालापन दूर होता है। इससे चेहरा कोमल भी बनता है।
  • संतरे के छिलकों को धूप में सुखाकर इनका चूर्ण तैयार करें। अब इस चूर्ण में कच्चा दूध, निम्बू का रस और गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे पर 15 मिनट तक लगाये रखकर ठन्डे पानी से धो लें। इससे चेहरे की खोई हुई सुन्दरता वापस आ जाती है।

चेहरे की सुन्दरता बनाये रखने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

  • मेकअप कम ही करें और हल्का करें। मेकअप के लिए केमिकल पदार्थों की जगह प्राकृतिक चीजों का अधिक इस्तेमाल करें।
  • चेहरे पर ब्लीच करने के लिए भी प्राकृतिक चीजों जैसे निम्बू का रस आदि का इस्तेमाल करें।
  • रोज सुबह शाम चेहरे को साफ़ पानी से अच्छी तरह से धोएं।
  • सोने से पहले चेहरे पर प्राकृतिक मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें।
  • चेहरे को धूल और प्रदूषण से बचाकर रखें।
  • धूप और सूरज की किरणों से बचने के लिए किसी अच्छी सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करें।