आम खाने के 9 फायदे

आम खाने के 10 फायदे

आम या मेंगो एक बहुत ही स्वादिष्ट फल होता है जिसे छोटे बच्चों से लेकर बूड़े सभी पसंद करते हैं।

यह दुनिया में सबसे ज्यादा खाया जाने वाला फ्रेश फ्रूट है इसलिए इसे ‘फलों का राजा’ भी कहा जाता है।

यह बाजार में गर्मी के मौसम में उपलब्ध होता है।

इसका मीठा और सुगन्धित स्वाद दिमाग को रिफ्रेश करता है और सुख का अनुभव कराता है।

आम की कई सारी किस्में होती हैं और यह अलग-अलग आकृति और आकार में उपलब्ध होता है। इसकी लगभग 1000 अलग-अलग किस्में होती हैं।

आम में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व, बायोएक्टिव कंपाउंड और फाइबर होने के कारण, यह स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है।

आम विटामिन ए, बी और सी के साथ-साथ पोटैशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, कैल्शियम और फॉस्फोरस के सबसे बड़े स्त्रोतों में से एक हैं।

इनमें प्री-बायोटिक फाइबर और पालीफेनोलिक फ्लावोनोइड एंटीऑक्सीडेंट भी भरपूर होते हैं।

आम के स्वास्थ्य के लिए 10 सबसे बड़े फायदे नीचे दिए जा रहे हैं –

1. कोलेस्ट्रॉल कम करता है

आम का नियमित सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर ठीक रहता है।

आम में मौजूद विटामिन सी, पेक्टिन और फाइबर शरीर के कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं, खासतौर पर LDL कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को।

इसके साथ-साथ यह अच्छे HDL कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है।

आम पोटैशियम का भी अच्छा स्त्रोत होता है। पोटैशियम शरीर के तंत्रिका तंत्र में रक्त के संचार को बढ़ाता है, जिससे हार्ट रेट और हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है।

यह हार्ट अटैक और स्ट्रोक्स की सम्भावना को भी कम करता है।

2. त्वचा को ग्लोविंग और स्वस्थ बनाता है

त्वचा के लिए आम काफी फायदेमंद होते हैं, इसलिए इसका फेस मास्क और स्क्रब्स में भी काफी इस्तेमाल किया जाता है।

आम में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, खासतौर पर विटामिन सी हमारी त्वचा को गोरा, स्वस्थ और चमकदार बनाये रखने में मदद करता है।

इसलिए स्किन और चेहरे को सुन्दर बनाने के लिए, आम को खाने के बाद उसके छिलके फेंके नहीं।

इन छिलकों से अपने चेहरे और हाथ-पैर की स्किन को रगड़ें। रगड़ने के बाद इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें।

इस आसान उपाय को नियमित करते रहने से आपकी स्किन मुलायम और बेदाग बनी रहेगी।

3. हीट स्ट्रोक से बचाता है

हीट स्ट्रोक से बचे रहने के लिए शरीर में पानी के स्तर का ठीक रहना जरूरी होता है।

आम में मौजूद पोटैशियम, शरीर के सोडियम लेवल को ठीक करता है जो बाद में शरीर के पानी के स्तर को ठीक करके हीट स्ट्रोक से बचाता है।

गर्मी के मौसम में अपने शरीर को ठंडा और हाइड्रेटेड रखने के लिए रोज एक पके या कच्चे आम का सेवन करें। यदि आप पके आम का सेवन कर रहे हैं तो पहले इसे एक घंटे के लिए ठन्डे पानी में डुबोकर रखें।

4. आंखों की रोशनी को सुधारता है

आम आपकी आंखों को स्वस्थ रखने के लिए भी काफी लाभकारी होते हैं।

इसमें अत्यधिक मात्रा में विटामिन ए मौजूद होता है जो आंखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी पोषक पदार्थ है।

विटामिन ए आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद करता है और विभिन्न आंख के रोगों जैसे रतौंधी, मोतियाबिंद, चकत्तेदार अध: पतन, सूखी आँखें, नरम कॉर्निया और सामान्य नेत्र संबंधी परेशानियों से बचाता है।

साथ ही आम में मौजूद फ्लावोनोइड्स जैसे बीटा-कैरोटीन, अल्फा-कैरोटीन और बीटा-क्रिप्टोक्सेंथिन आंखों की दृष्टि को बनाये रखने के लिए फायदेमंद होते हैं।

इसलिए अपनी आंखों को स्वस्थ रखने के लिए रोज आम का सेवन करें। रोज सिर्फ एक कप आम के जूस का सेवन करने से विटामिन ए की रोज की 25 प्रतिशत मात्रा की पूर्ति हो जाती है।

5. शरीर को क्षारीय करता है

गर्मियों के इस प्रचलित फल का हमारे शरीर पर क्षारीय प्रभाव होता है। इसमें टारटरिक एसिड, मेलिक एसिड और थोड़ी मात्रा में साइट्रिक एसिड पाई जाती है, जो शरीर के क्षारीय स्तर को बनाये रखने में मदद करती हैं।

इसके कारण हमारा शरीर कई स्वास्थ्य समस्यायों जैसे किडनी डिजीज, मांसपेशियों की हानि, कमजोर हड्डियाँ और पुरानी चयापचय अम्लरक्तता से बचा रहता है।

आम का नियमित सेवन करते रहने से रक्त का सामान्य और थोड़ा क्षारीय Ph मान 7.35 और 7.45 के बीच बना रहता है। इससे शरीर में ऑक्सीजन का सर्कुलेशन बढ़ता है, ऊर्जा बढ़ती है, मोटापा होने की सम्भावना कम होती है और पाचन तंत्र ठीक रहता है।

6. पाचन को ठीक रखता है

आम में हाई फाइबर कंटेंट होता है जो पाचन को बढ़ाता है, अपशिष्ट उत्पादों को बाहर निकालने में मदद करता है और मल त्याग प्रक्रिया को सामान्य करता है।

हाल में हुए एक शोध के अनुसार यह जठरांत्र विकार जैसे क्रोहन रोग को ठीक करने में भी मदद करता है।

साथ ही यह फल कब्ज और पेट के अल्सर की समस्या में भी आराम प्रदान करता है।

आम में ऐसे एंजाइम भी मौजूद होते हैं, जो कार्बोहाइड्रेट्स और प्रोटीन को तोड़कर ऊर्जा में बदलने में मदद करते हैं।

कच्चे या पके, किसी भी प्रकार के आम का नियमित सेवन करने से पाचन ठीक रहता है और पेट से सम्बंधित बीमारियाँ नहीं होती।

7. कैंसर से लड़ता है

आम में हाई फाइबर और विटामिन सी से साथ-साथ कुछ फेनोल्स और एंजाइम मौजूद होते हैं, इसलिए इसमें एंटीकार्सिनोजेनिक गुण पाए जाते हैं।

कुछ शोधों से यह बात सामने आई है कि आम में मौजूद एंटी-कार्सिनोजेनिक और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज, हमारे शरीर को पेट, स्तन, फेफड़ों, स्किन, लयूकेमिया और प्रोस्टेट कैंसर से बचाती हैं। आम में पाए जाने वाले कुछ कैंसर फाइटिंग कंपाउंड्स निम्न हैं – क्वेरसेटिन, आइसोक्वेर्सिट्रिन, एस्ट्रैगैलिन, फिसेटिन, गैलिक एसिड और मिथाइल गैलेट।

यह एंटी-कैंसर कंपाउंड्स अंगों को नुकसान पहुंचाए बिना कैंसर सेल्स को टारगेट करके बाहर निकाल देते हैं।

कैंसर के मरीजों को रोज दो गिलास आम के जूस का सेवन करना चाहिए।

8. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

आम में अत्यधिक विटामिन सी और ए होने के कारण, यह इम्यून सिस्टम को स्वस्थ और ताकतवर बनाये रखने में मदद करता है। इम्यून सिस्टम को ठीक से काम करने के लिए विटामिन ए की आवश्यकता होती है।

विटामिन सी स्किन और श्लैष्मिक झिल्ली को स्वस्थ बनाये रखता है और खतरनाक बैक्टीरिया व फंगस को अन्दर नहीं घुसने देता।

यह श्वेत रक्त कोशिकाओं के प्रोडक्शन को भी बड़ा देता है, जो इम्यून सिस्टम को ठीक से काम करने के लिए जरूरी है।

साथ ही आम में 25 विभिन्न प्रकार के कैरोटीनॉयड होते हैं, जो इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद हैं।

इम्यून सिस्टम के मजबूत होने से सर्दी-जुकाम और इन्फेक्शन जैसी सामान्य बीमारियाँ नहीं होतीं।

9. याददाश्त को बढ़ाता है

आम का सेवन करने से दिमाग स्वस्थ रहता है, याददाश्त बढ़ती है और एकाग्रता में सुधार आता है।

मेडिकल जर्नल में पब्लिश हुई एक स्टडी के अनुसार आम में कोलीनर्जिक कार्य को बढ़ाने वाले और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने वाले कंपाउंड्स पाए जाते हैं। इसलिए यह याददाश्त को बढ़ाने के लिए फायदेमंद फल है।

आम में पाई जाने वाली ग्लूटामाइन एसिड भी मेमोरी और एकाग्रता को बढ़ाती है।

साथ ही इसमें मौजूद विटामिन बी6, दिमाग के कामकाज के लिए लाभकारी होता है।

इसलिए यदि आपको भूलने की बीमारी है या पढ़ाई में मन नहीं लगता है तो आम का नियमित सेवन करें।