Dr. Rahat Indori – Mod Hota Hai Jawaani Ka Sambhalne Ke Liye

Dr. Rahat Indori – Mod Hota Hai Jawaani Ka Sambhalne Ke Liye


Log har mod pe ruk ruk ke

sambhalte kyu hain

Itna darte hain to fir ghar

se nikalte kyu hain

——

Mod hota hai jawaani ka

sambhalne ke liye

Aur sab log yahi aake

fisalte kyu hain

——

Main na jugnu hu diya hu

na koi taara hu

Roshni waale mere naam

se jalte kyu hain

—————————————

लोग हर मोड़ पे रुक रुक के

सँभालते क्यों हैं

इतना डरते हैं तो फिर घर से

निकलते क्यों हैं

——

मोड़ होता है जवानी का

सँभालने के लिए

और सब लोग यही आके

फिसलते क्यों हैं

——

मैं न जुगनू हु दिया हु न

कोई तारा हु

रौशनी वाले मेरे नाम से

जलते क्यों हैं
 

सम्बंधित टॉपिक्स

सदस्य ऑनलाइन

अभी कोई सदस्य ऑनलाइन नहीं हैं।

हाल के टॉपिक्स

फोरम के आँकड़े

टॉपिक्स
1,845
पोस्ट्स
1,886
सदस्य
242
नवीनतम सदस्य
Ashish jadhav
Back
Top