गुजरात के देवभूमि द्वारका जिला पर सुंदर शेरों शायरी स्टेटस कोट्स मैसेज

देवभूमि द्वारका जिला गुजरात के जिलों में एक जिला है, देवभूमि द्वारका जिला, यह गुजरात के दक्षिण पूर्वी क्षेत्र के अंतर्गत आता है, इसका मुख्यालय खम्भालिया है, जिले में कुछ वित्त विभाग है 4 तालुका है, 7 नगरपालिकाएं है और 2 विधान सभा क्षेत्र जो की शायद किसी संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आती है, 249 ग्राम है और कुछ ग्राम पंचायते भी है।

देवभूमि द्वारका जिले का क्षेत्रफल 4051 वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार देवभूमि द्वारका की जनसँख्या ७,५२,४८४ और जनसँख्या घनत्व 186/km2 व्यक्ति [प्रति वर्ग किलोमीटर] है, देवभूमि द्वारका की साक्षरता 69% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 938 महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच कितनी रही है इसका आधिकारिक वेबसाइट पर कोई विवरण नहीं है।

देवभूमि द्वारका का इतिहास एक जिले के रूप में एकदम नया है, क्युकी इसका जिला रूप १५ अगस्त २०१३ को ही अस्तित्व में आया है, और इसे जामनगर जिले से निकालकर बनाया गया है, वैसे कुछ इतिहासकार इसके इतिहास को महाभारत काल से जोड़ कर देखते है, श्री मद भगवत पुराण के अनुसार भगवन श्री कृष्ण ने जरासंध से युद्ध के समय समस्त मथुरा नगर के निवासियों को यहाँ पर सुरक्षा के दृष्टिकोण से बसाया था।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

अगर आप तहज़ीब और नज़ाकत से इत्तेफ़ाक़ रखते हैं,
बेशक मुस्कुराइए की आप देवभूमि द्वारका में हैं।

देवभूमि द्वारका अब बड़ा शहर हो गया हैं,
यहाँ का तहजीब और अदब खो गया हैं।

बड़ी मुश्किल से आते हैं समझ में देवभूमि द्वारका वाले
दिलों में फ़ासले लब पर मगर आदाब रहता है

बड़े तहजीब से उस देवभूमि द्वारका की
लड़की ने मेरा दिल तोड़ा था,
उसे भी यकीन नहीं हुआ
जब मैंने उसे छोड़ा था।

पूरी दुनिया में मशहूर हैं,
देवभूमि द्वारका के जवाब और सवाल।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

पटना छुटी थी पहले अब देवभूमि द्वारका भी छोड़ें
दो शहर थे ये अपने दोनों तबाह निकले।

नए मिज़ाज के शहरों में जी नहीं लगता
पुराने वक़्तों का फिर से मैं देवभूमि द्वारका हो जाऊँ

अरे मियां होगी दिल्ली दिल वालों की,
हमारे ‘देवभूमि द्वारका’ में इश्क़ की तालीम दी जाती है।

अधूरा किस्सा लिख कर पन्ने मोड़ आया हूँ।
खुद का एक टुकड़ा देवभूमि द्वारका जिला छोड़ आया हूँ।

हम देवभूमि द्वारका के है जनाब,
तहज़ीब के साथ साथ नवाबी भी जानते हैं।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

देवभूमि द्वारका की गलियों का कुछ इतिहास ही पुराना है
हमसे पूछो हमने इसे बहुत करीब से जाना है
जितनी प्यारी बोली है उतना ही कड़क स्वभाव है
मुस्कुराइए आप देवभूमि द्वारका में हैं,
यही हमारे स्वागत करने का अंदाज है।

धीरे धीरे हम तुम्हे अपनी मोहब्बत दिखाएंगे।
मिलना कभी हमसे, तुम्हे हम अपना देवभूमि द्वारका जिला घुमाएंगे।।

मै जब भी तुझे देखू, बचपन की यादों में पड़ जाऊ…।
बस तेरे, एक नाम बस के दीदार से, देवभूमि द्वारका जिला हो जाऊ…।।
❤️ #देवभूमि द्वारका_जिला_जहां_मै_विचरता_हूं❤️

अब गाँव को नहीं जा पाता हूं ‘राॅयल’
कि मेरे देवभूमि द्वारका में अब शहर आ गया हैं।

कहाँ ढूंढेंगे इस देवभूमि द्वारका में मेरे कातिल को,
एक काम कीजिए, ये इल्जाम भी मेरे ही सर डाल दीजिए।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

ये चंद लोग जो देवभूमि द्वारका में सबसे अच्छे हैं,
उन्हीं का हाथ है मुझको बुरा बनाने में।

इस देवभूमि द्वारका में कौन हमारे आँसू पोंछेगा,
जो मिलता है उसका दामन भीगा लगता है।

तेरे कूचे में जो आया है ग़ुलामों की तरह,
अपनी शहर का सिकंदर भी तो हो सकता हैं।

कहानी तो छोटे लोगों की लिखी जाती हैं,
देवभूमि द्वारका वालों का तो इतिहास लिखा जाता हैं।

यहां सब मिलता हैं,
सिवाय नफरत के।
my city devbhumi dwarka.

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

जन्मभूमि ने भले ही ज़िन्दगी दी है,
मगर जीना कर्मभूमि ने सिखाया है।

किसी नशे की लत तो आम बात हैं साहब पर नशा जब किसी जिला का लगे तो समझ लेना वो देवभूमि द्वारका जिला हैं।

हमें शौक नही दुबई अमेरिका घुमने का
हम तो देवभूमि द्वारका जिला के दीवाने हैं।

बहुत खुबसूरत हैं मेरे ख्यालो की दुनिया
बस देवभूमि द्वारका से शुरू और देवभूमि द्वारका पर ही खत्म।

जरूरी नइखे कि आज जेल होई काल्ह बेल होई
इ देवभूमि द्वारका जिला हऽ ऐ बाबू एनकाउंटर भी होई और पोस्टमार्टम भी हो जाई😆😆

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

देवभूमि द्वारका जिला के हई घर में घुस के मार देब।

देवभूमि द्वारका से हैं..,
तो चर्चे हर जगह होंगे ही..।

देवभूमि द्वारका वाले हैं ना जनाब,
इसलिए दिल थोड़ा जल्दी लगा लेते हैं,
लेकिन जिस दिन दिमाग लगाएँगें,
उस दिन औकात दिखा देंगे।
#देवभूमि द्वारका जिला

सच्चे प्यार के लिए कुर्बान हैं देवभूमि द्वारका,
यारों के लिए यार हैं देवभूमि द्वारका,
दुश्मनों के लिए तुफान हैं देवभूमि द्वारका,
इसलिए तो लोग कहते हैं बाप रे खतरनाक हैं देवभूमि द्वारका।

इंकलाबी हमीं से हैं,
इंकलाब हम लायेंगे,
किसी भी कीमत पर,
स्वच्छ इसे बनायेंगे।
देवभूमि द्वारका जिला

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

डर मत पगली देवभूमि द्वारका के हैं हम।

अगर हुकूमत दिल्ली का ख्वाब हैं,
तो पटना भी लाजवाब हैं।
अगर वैशाली, छपरा नवाब हैं,
तो जिला देवभूमि द्वारका भी सबका बाप हैं।

वो देख वहाँ से शुरू होता हैं देवभूमि द्वारका जिला
भुल कर भी अकड मत दिखाना बहुत मारते हैं।

हसरते बनारस,
बसरते गोरखपुर,
सुरमयी है देवरिया,
और कातिलाना हैं देवभूमि द्वारका।

यमराज – मैं तुम्हारी जान लेने आया हूं🙄
मैं – ले जाइए__ गुजरात के देवभूमि द्वारका जिला में रहती है😂

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

देवभूमि द्वारका जिला नाम ही काफी हैं।

देवभूमि द्वारका जिला की ताकत से पुरा ब्रह्मांड डोलता हैं,
ये हम नही हमारा इतिहास बोलता हैं।

तीन ही उसूल हैं हमारे जिले के,
आवेदन, निवेदन और फिर भी न माने तो दे दना दन।

अक्सर हम हमारा परिचय नहीं देते
लोग हमारी देशभक्ति देख कर ही कह देते है , देवभूमि द्वारका जिला से आएं है।

मान मर्यादा अनुशाशन, यही पहचान हमारी है।
देवभूमि द्वारका से हैं हम, ऊँची शान हमारी है।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

तेरा हाथ थाम कर देवभूमि द्वारका की राहों पर चलना चाहता हूं?
फिर खुशी मिले या दुख ये मेरा नसीब हैं।

ज़िक्र ए चाय हो….और लब खामोश रहें??
क्या बात करते हो जनाब😅 देवभूमि द्वारका की पहचान है ये😉

हो गए मजबूर दाने दाने के लिए,
चार कंधे भी नहीं मिले अर्थी उठाने के लिए,
छोड़ कर आए थे जो देवभूमि द्वारका को पिछड़ा बोल कर
आज तड़प रहे हैं देवभूमि द्वारका जिला जाने के लिए।

जहाँ सीधे-सादे लोगो का है डेरा,
खुशहाली से भरा वो देवभूमि द्वारका मेरा हैं।

देवभूमि द्वारका में, पैसे से जेब हल्की और दिल के लोग बड़े होते है,
गैरों के मुसीबत में भी अपनों की तरह खड़े होते है।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

माना शहर में तुम्हारा वो तरक्की वाला मकान है,
मगर देवभूमि द्वारका में गरीबों के जीवन में भी सुकून और शान है।

खुदा से ही इतनी ताकत पाते है,
देवभूमि द्वारका वाले हर मुसीबत से लड़ जाते है।

जो लोग दिल्ली की दवा से ठीक नही हो पाते है,
वो लोग अक्सर देवभूमि द्वारका की हवा से ठीक हो जाते है।

दिल खुश हो जाता है देवभूमि द्वारका के मेले में,
ख़ुशी का पता ही नही शहर के झमेले में।

जो कल तक टूटा सा था वो जुड़ रहा है,
अब जाकर विकास देवभूमि द्वारका की ओर मुड़ रहा है।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

मेरी शहर सी ज़िंदगी में,
वो एक देवभूमि द्वारका सी है।
शांत, स्वच्छ और मासूम।

देवभूमि द्वारका और शहर के लोगों में
उतना ही अंतर होता है
जितना धरती और गमले में
उगे हुए पौधे में होता है।

यूँ तो समेट लाए हर चीज़ देवभूमि द्वारका से मगर,
धागे तुम्हारे नाम के बरगद पे ही रह गए ❤️

ये दौड़ता हुआ शहर है जनाब,
चलना हो तो देवभूमि द्वारका आओ कभी।

दरवाजे से छुपकर देखती है वो रोज मुझे, ♥️♥️
ये देवभूमि द्वारका जिला का इश्क है जनाब, शहर की नौटंकीयां नहीं..!!

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

बंद कमरों में कहाँ ऐसी सदाएं होंगीं,
ये मेरे देवभूमि द्वारका जिला के बरगद की हवांए होंगी।

दिल्ली की दवा और देवभूमि द्वारका की हवा बराबर होती है।

हमारे लिए तो देवभूमि द्वारका
हमारी ज़िंदगी है साहब।

जहाँ गीत – गजलें साथ में सब को सुनाई दे,
देवभूमि द्वारका जिला मजहब से परे मुझको दिखाई दे।

सुगन्धित इत्र और देवभूमि द्वारका जिला से मित्र,
बड़े किस्मत वालों को ही मिलते हैं।

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

चलो लाज्मी था तेरे शहर देवभूमि द्वारका आना,
कुछ सीखा हो या ना सीखा हो पर संभलना जरूर सीख लिया।

देवभूमि द्वारका की गलियों में मैंने अपने जीवन को संवारा हैं,
बड़े दिन से जमे हो तुम वहाँ, क्या हाल तुम्हारा हैं।

हम देवभूमि द्वारका के वासी हैं,
बदला नहीं लेते, बदल जाते हैं।

दूसरे शहरों में:- तू जानता है मेरा बाप कौन है…?
देवभूमि द्वारका में:- तोहू के मारब तोरे बापो के…
नही त भाग जा इहा से…😂

भाई साहब देवभूमि द्वारका के लोग, परिवार के लिए जान दे सकते है,
पर देहाती रसगुल्ला में हिस्सा बिलकुल नही😆😆

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

दाल भात खा कर दोपहर में मगरमच्छ की तरह सोना,
ये हर देवभूमि द्वारका जिला वालों के खून में पाया जाता है।

देवभूमि द्वारका जिला में रहकर अगर बन्दूक के साथ फोटो नहीं खिचाई,
तो बाबा तुम्हारा देवभूमि द्वारका में रहना व्यर्थ हो गया।

ये प्यार व्यार सब धोखा है,
आओ खाते लिट्टी चोखा है।

तुम हम, डाकबंगला का चौराहा
और दो प्लेट लिट्टी-चोखा।

इजहार ए मोहब्बत का हुनर भी सिखाएंगे तुम्हें,
आओ कभी देवभूमि द्वारका लिट्टी चोखा का स्वाद भी चखाएंगे तुम्हें।

अभी मेरे पास लिट्टी हैं, चोखा हैं, चटनी हैं,
मुरई हैं, मिर्चा हैं , तुम्हारे पास क्या हैं ???

gj – 34 देवभूमि द्वारका जिला पर शायरी स्टेटस कोट्स कविता हिन्दी में | shayari status quotes & poem on devbhumi dwarka district in hindi :-​

तुम एक बार देवभूमि द्वारका के गलियों मे दिखने का वादा तो करो,
वादा हैं इस बार तुम्हें लिट्टी-चोखा जरूर खिलाऐगे।

कुछ अलग ही सुकून मिलता है,
देवभूमि द्वारका की मिट्टी में..
और जनाब कुछ अलग ही स्वाद है
यहां की चोखा और लिट्टी में।

तारीफ़ करूँ तो भक्त कहलाऊँ, न करूँ तो चमचा
अपना अपना मफ़लर सबका, अपना अपना गमछा।

एक ही गमछा है पास मेरे
दिन भर पहनता हूँ, रात को ओढ़ता हूँ।

मैं अपनी जिंदगी में तुमसे कुछ ज्यादा नहीं चाहता हूँ…
तुम्हारी साड़ी में अपना गमछा बाँध के सत्य नारायण की कथा सुनना चाहता हूँ।
 

सम्बंधित टॉपिक्स

सदस्य ऑनलाइन

अभी कोई सदस्य ऑनलाइन नहीं हैं।

हाल के टॉपिक्स

फोरम के आँकड़े

टॉपिक्स
1,845
पोस्ट्स
1,886
सदस्य
242
नवीनतम सदस्य
Ashish jadhav
Back
Top