प्यार का इजहार करने के लिए रोमांटिक लव शायरी

एक ही पल में नजरों से नजरे टकरा गई,
जो हम करना नही चाहते थे हमसे वो खता हो गई❤️

मुहोब्बत कर के दिल टुटनेसे डरते हो,👩
गम की बारिश से घबराते हो,
ये तो वही बात हुई कि ,
आग में गिरो और जलो भी नही.💛💚
वाह क्या कमाल सोचते हो।

यूँ तो मोहब्बत💖 मुझे कुछ खास रास नही आती,
पर तुमसे मुलाक़ात क्या हुई हमारी अक्स तक आपकी हो गई।👧

कुछ तब्दीलियां जिंदगी में यूं हँसी हुई, 💙
फासला वक़्त में, नजदीकियां दिलो मे बढ़ गई,
प्रदीप, प्रदीप ना रहा 👨
कुछ इस कदर वो आप मे समा गया।


मुक्कदर में हो या ना हो,
तुम इस दिल💚 मे हमेशा हो,
किस्मत को मंजूर हो या ना हो,
तुम इस नादान की आखिरी मंजिल हो।👫

उफ्फ मैडम का Gussa तो देखो,👿
हमारी एक मुस्कान और उनका गुस्सा गायब

दुनिया वालों के लिए होगा वो अदीब,
मेरे लिए तो वो मेरा हबीब हैं ।👫👫

बाहर गहरा सन्नाटा व खामोशी,
अंदर तूफान सा शोर,😙
मुहोब्बत के यही सितम हैं,
मेहबूब के आगे किसका चला हैं जोर।💕

तुम्हारे मुहोब्बत की बारिश में भीग जाउ,⛈⛈
तुम्हारे इंतजार की धूप में जल भी जाउ,
तुम्हारी महक इन हवाओंसे चुरा लाऊ,🌐🌐
तुम्हारी अदा इन फिजाओंसे छीन लाऊ,👩

खूबसूरत वो नही उसका हर अंदाज हैं,👩💜
मासूम सी उसकी मुस्कान ही मेरे बेचैन दिल का राज हैं।😘

तुम जो यूँ मुहोब्बत बरसाते हो ना मुझ पर,👫💓
बस इसीने आदतो ने बिगाड़ रखा है मुझे। 👳

वो मुहोब्बत अलग ही परवान चढ़ती हैं,💕
जिसमें जुदाई का मौसम लम्बा ठहरा हो।

सुना हैं तौर तरीकों के पक्के हो,📅
सच बताना कही किसी से मुहोब्बत तो नही कर बैठे हो।👫

वो मुहोब्बत हैं जनाब👧
लाख मोड लो मुँह तुम।
अगले पल उसकी आगोश में होंगे,
फिर चाहें कई लगालो पहरे तुम।🙍💑

वो मेरी आदत में एक परहेज लीख गया,✍
मेरी चाहत में वो अपना नाम लिख गया।👩💕

लिखना तो हम महज एक शेर चाहते थे,
पर तुम एक खूबसरत गजल की हकदार थी।

मुहोब्बत हावी होजाती है मुझ पर,👨
जब जिक्र तुम्हारा होता हैं।
हैवानियत हावी होजाती हैं मुझ पर,💕
जब जिक्र तुम्हारा किसी गैर से होता हैं।


मुहोब्बत को तेजाब से कम ना समझ,💙
तेरी तबियत को जला कर ही मानेगी 💕

अनजान सा कोई वो शक़्स हैं,💏
जिसमे गुमनाम सा मेरा अक्स हैं।

दिल नही मानो मयखाना हो,💙
नशा हो तुम, नशे में हैं हम।

ये मस्तमौला आलम , ये आवारा समा,💓
ये दीवानगी की धुन, उसमे मदहोश बलमा।

कुछ बाते कभी बताई नही जाती,
महसूस की जाती हैं,👩
मुहोब्बत कभी दिखाई नही जाती,
उनकी हरकतों में झलकती जाती हैं।💦

रात के भी अपने अलग ही अंदाज हैं,🌃
कभी वीरानी तो कभी तूफानी सौगात हैं।💛

आसमां में चांद तो एक ही होता है,🌙
पर किसी के लिए मेहबूब, 💙
किसी के लिए चूड़ी का टूटा हुआ टुकड़ा होता है।💗

मुहोब्बत मेरा लत बन चुका हैं,💗💗
और तुम मेरी आदत बन चुकी हो।

सावली सूरत हैं उनकी,🙋
मोहिनी मूरत हैं उनकी,
दिलचस्प सीरत हैं उनकी,
कुछ ऐसी ही तारीफ हैं उनकी।💚

💛💛 Love Shayari writing💝
ये जो तन्हाई का आलम हैं,😞
साहब यही मुहोब्बत का अंजाम हैं।💚

हमें देखकर वो जो दिलसे मुस्कुराते हैं,👩
कभी उन्हें मायूस ना करना खुदा,👐

मयख़ाने के चक्कर लगाना तो आम बात हैं,
हमारे मेहबूब तो आँखोंसे जाम पिलाते हैं।💔

कुदरत की हसीन बनावट हैं इश्क़,👩
खुदा की खूबसूरत इनायत हैं इश्क़,
ना तू उसे जिस्मफिरोशी से तोल,
जिस्म से बहुत दूर हैं इश्क़।💚

मैंने पूछा इश्क़ करते हो? कितना ?🤔
उसने कहा आसमां का विस्तार हैं जितना।⛅
मैंने पूछा इंतजार करलोगे? कैसे ?😓
उसने कहा चातक जैसे करता हैं इंतजार बारिश का।🌧

तलब सी होगयी हैं लगता हैं अब मुझे,
तुमने कुछ इस कदर मुझे अपनी बनाया हैं।


इश्क़ मुक्कमल होने ही वाला था,💔
की कमबख्त नींद ने धोखा दे दिया।

तुम्हारी मुहोब्बत ने मेरी आदतें बिगाड़ दी हैं,👫💜
दिन हो या रात, दिल की प्यास बुझती ही नही हैं।

तुम्हारी नजाकत भरी बाते,👩
मुझे काफी उलझा देती हैं।
तुम्हारी मुहोब्बत में चूर नजरें,👀
मुझे काफी सहमा देती हैं।

तुम्हारी दिलकश अदाएँ,👩👌
मुझे तुमसे लिपटी रखती हैं।
तुम्हारी हर शरारत भरी हरकत,
मुझे सिर्फ तुम्हारी बनाए रखती हैं।💚

दुनिया की चौखटे काफी ऊँची हैं,🌏
उन्हें लांघ कर तुम मेरे हो पाओ,
तो हाँ तुम कबूल हो मुझे।👫👫
दुनिया मे कटघरे हर जगह हैं,
उनसे जीत कर तुम मेरे हो पाओ,
तो हाँ तुम कबूल हो मुझे।

हसरते तुम्हे पानेकी ना होती,👫👫
तुम अगर मेरी मुहोब्बत ना होती।💕
तुम अगर तुम्हारे जैसी ना होती,👨
यकीन मानो तुम वाकई मेरी मुहोब्बत ना होती।💛
तुम्हे देखती 👀❤हूं जब जब मैं,
खो जाती हूँ तब तब मैं,💖

मेरे तसव्वुर में भी तेरा एक किरदार हैं,👧💙
जो तेरा होकर भी सिर्फ मेरा हैं।
 
मॉडरेटर द्वारा पिछला संपादन:

सम्बंधित टॉपिक्स

सदस्य ऑनलाइन

अभी कोई सदस्य ऑनलाइन नहीं हैं।

हाल के टॉपिक्स

फोरम के आँकड़े

टॉपिक्स
1,638
पोस्ट्स
1,675
सदस्य
211
नवीनतम सदस्य
Irshad aAnsari
Back
Top