What is Software Quality Assurance in Hindi?

इस Post में आपको बताया जायेगा कि Software Engineering में software quality assurance के बारे में जानेगे, तो चलिए शुरू करते है।

Software Quality Assurance​

SQA (सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट लाइफ-साइकिल) (SDLC) के अंदर होने वाली प्रक्रिया है जो कि सॉफ्टवेयर क्वालिटी के लिए प्रयोग किये जाने वाली methods तथा process की समय समय पर जांच करता है। और कोई गलतिय ना हो उन्हें check करता हैं।

Software Quality से तात्पर्य यह है, कि software error free (त्रुटि मुक्त), आवश्यकताओं को पूरा करने वाला, समय पर deliver होने वाला तथा बजट के अंदर आने वाला होना चाहिए और उसकी performance बहुत अच्छी होनी चाहिए।

“आसान शब्दों में कहे तो”, अपने User को Software संबंधित जानकारी प्रदान करने एवं उसकी गुणवत्ता परखने के लिए software testing की जाती हैं। product को बेचने वाली company द्वारा तैयार software को user के दिए गये जरूरतों के हिसाब से बनाया जाता हैं और user जिन environment में तैयार software का उपयोग करेगा, उस तरह की environment को lab में बना कर एक software को test किया जाता है।

Development टीम द्वारा software तैयार किया जाता हैं, उसके बाद तयार software को टेस्टिंग टीम के पास भेजा जाता हैं। testing करने वाले व्यक्ती को Software Testers कहा जाता हैं।

Software की Quality सॉफ्टवेयर के External तथा internal बनावट पर आधारित होता है।

External Quality का अर्थ है कि जब कोई user Software को चलाता है तो वह क्या experience करता है। इसपे ध्यान दिया जाता हैं। जबकि…

Internal Quality का अर्थ है, जो कि code-dependent होता है और ये कोड user’s को दिखाई नही देता है user का coding से कोई भी मतलब नही होता है।

अगर हमारा software पुरे तरह से बन कर तैयार हैं, और हम बिना software quality assurance के software को develop कर रहे है और यदि हम end में उसे test करेंगे, और test के दौरान अगर कोई error generate होती हैं। या कोई requirement की कमी होती हैं तो इस situation में हमारा software पुरे तरीके से crash हो जायेगा। इसलिए हर development process के पूरा होने पर software quality assurance को check करना बहुत जरुरी होता है।

Software Quality Testing​

एक Software Quality की Testing इस प्रकार होती हैं।

1. Design​

Software का design अच्छा होना चाहिए, क्योंकि user सॉफ्टवेयर के प्रति तभी आकर्षित होगा जब उसका design बेहतर होगा।

2. Ease-to-use​

Software का user-interface बेहतर होना चाहिए, जिससे user को उसमें कार्य करने में आसानी हो, अर्थात् Software को आसानी से चलाया जा सके।

3. Speed​

एक Software को कम समय में best service provide करने वाला होना चाहिए, तथा इसकी गति तेज होनी चाहिए, जिससे user द्वारा किया गया कार्य जल्दी हो सरलता से हो सके।

4. Error-free​

Software गलतियों से मुक्त होना चाहिए, क्योंकि अगर software में errors होंगे तो software की reliability तथा security कम हो जायेगी जिससे software fail हो जायेगा। इससे user का experience भी ख़राब हो जाता हैं।

5. Security​

Software secure होना चाहिए अर्थात् software में उपस्थित data को कौन-कौन देख सके तथा प्रोसेस कर सकता है, अगर कोई internet पर आधारित software है तो सुरक्षा के लिए उसमें encryption तथा decryption होना चाहिए।

6. Testability​

Testability का अर्थ है कि software को आसानी से test किया जा सकें।

7. Portable​

एक Software दूसरे environment पर भी आसानी से run होना चाहिए। अर्थात् Software को portable होना चाहिए।

8. Readability​

Software को आसानी से पढ़ा जा सकें। अर्थात् इसका source-code readable होना चाहिए।

9. Reliability​

एक Software जो है वह अपनी performance पर स्थिर होना चाहिए। अर्थात् Software reliable होना चाहिए।

10. Maintainability​

अगर हमें Software में कोई बदलाव करने हो तो हम उसे आसानी से कर सकें। यहि Maintain का अर्थ होता है।
 

सम्बंधित टॉपिक्स

सदस्य ऑनलाइन

अभी कोई सदस्य ऑनलाइन नहीं हैं।

हाल के टॉपिक्स

फोरम के आँकड़े

टॉपिक्स
1,845
पोस्ट्स
1,887
सदस्य
242
नवीनतम सदस्य
Ashish jadhav
Back
Top